बिहार में शुरू हुई टी-शर्ट पॉलिटिक्स, जनता तक पहुंचने के लिए विपक्ष ने निकाला नायाब तरीका

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

National Samachar : अगर आपको पटना में वीरचंद पटेल पथ पर राजनीतिक दलों के टैग लगे टोपी, मास्क और टी-शर्ट बेचते लोग मिलें तो चौकियेगा मत. यह समझ जाइयेगा कि यहां चुनाव की दस्तक हो चुकी है. सड़क किनारे टी-शर्ट पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की तस्वीर, उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव की तस्वीर, आरजेडी का चुनाव चिन्ह लालटेन, जन अधिकार पार्टी के मास्क आदि की खूब डिमांड हैं. आरजेडी दफ्तर के ठीक सामने लगे स्टॉल पर बिक रहे आरजेडी के टीशर्ट की खूब मांग है. कोई थोक में तो कोई सिंगल पीस की मांग कर रहा है. मोल-मोलाई भी किया जा रहा है. इसी संबंध में आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि हमरे कार्यकर्ताओं में बहुत उत्साह है, जिसका यह नतीजा है. बिहार की बदहाली दूर करने के लिए युवाओं में जो जोश है वो उसे प्रकट कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि हमारी टीशर्ट बेचने की कोई योजना नहीं है, लोग दुकान लगाकर बेच रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष के तस्वीर की वजह से उनका टीशर्ट बिक जाएगा. मंदी के दौर में उनकी कुछ कमाई भी हो जाएगी. वहां मौके पर मौजूद दुकानदार ने कहा कि लोग हमारे यहां से थोक के भाव में टी-शर्ट ले जाते हैं. ये हमारी कंपनी के तरफ से है सभी आइटम का अलग-अलग रेट है. इधर, खरीददार भागलपुर निवासी राजेन्द्र यादव जो आरजेडी के पूर्व जिला प्रवक्ता हैं, उनका कहना है कि मैं अपनी पार्टी की समाग्री खरीदने आया हूं जरूरत पड़ी तो थोक में भी खरीदूंगा. वहां हमारे कार्यकर्ता पहन कर घूमेंगे और पार्टी का प्रचार करेंगे. गौरतलब है कि बिहार में विधानसभा चुनाव के अक्टूबर- नवंबर में होने की संभावना है. इसको लेकर पार्टियां कमर कस चुकी हैं. अब वह दिन दूर नहीं जब सभी नुक्कड़- चौराहों पर अलग-अलग पार्टियों के कार्यकर्ता कभी टोपी, कभी टीशर्ट तो कभी मास्क पहने अपने पार्टी का प्रचार करते दिखेंगे.

रिपोर्ट : राहुल सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *