जानिए हैंड सैनिटाइजर सेफ या खतरनाक ?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

National Samachar : Covid – 19 वायरस का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. लोग जानते हैं कि इसे साफ-सफाई से ही हराया जा सकता है. इसलिए हाल के दिनों में सैनिटाइजर की खपत काफी बढ़ गई है. लोग धड़ल्ले से इसका प्रयोग कर रहे हैं. बिना यह जाने कि इसका आपके स्वास्थ्य पर क्या असर होगा? लोगों को यह तक पता नहीं है कि सैनिटाइजर के प्रयोग का सही तरीका क्या है. क्या आप जानते हैं कि बाजार में मिलने वाले सभी सैनिटाइजर प्रभावी नहीं हैं? तो ऐसे में सवाल उठता है कि सैनिटाइजर खरीदने से पहले किन बातों का ध्यान रखा जाएं
डॉक्टर्स के मुताबिक साबुन और पानी से हाथ धोना सबसे अच्छा है. अगर आपके आस-पास साफ पानी मौजूद है तो फिर सैनिटाइजर के प्रयोग से बेहतर होगा कि आप अपने हाथों को साफ पानी से धोएं. सैनिटाइजर का प्रयोग तभी करें, जब ऐसा कर पाना मुमकिन ना हो. ज्यादातर लोग सैनिटाइजर हाथ में लेते हैं और 2-3 सेकेंड मल कर समझते हैं कि हाथ साफ हो गया. जबकि यह सही सोच नहीं है. सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते हुए इसे कम से कम 10-12 सेकेंड तक अपने हाथों पर मलें. आपके हाथों के गस्से-गस्से तक सैनिटाइजर पहुंचना चाहिए, तभी यह वायरस को हटाने में प्रभावी हो सकता है. जैसा कि WHO की गाइडलाइन भी कहती है कि हथेलियों को आपस में रगड़ें. दोनों हाथों की उंगलियों को जोड़कर मलें. अंगूठों को अच्छे से हल्के-हल्के रगड़ना न भूलें. डॉक्टर्स का सैनिटाइजर की मात्रा को लेकर कहना हैं की मटर के दाने जितना इस्तेमाल करने से कुछ नहीं होगा. क्योंकि लोगों के हाथों के आकार अलग-अलग होते हैं. इसलिए सही तरीका है कि सैनिटाइजर चुल्लू भर होना चाहिए. मात्रा में कहें तो 5 एमएल से ज्यादा. इसके साथ ही सैनिटाइजर इस्तेमाल करते हुए आपके हाथ दिखने में साफ सुथरे होने चाहिए. ऐसा नहीं कि आपके हाथ बहुत गंदे है और आपने 5 एमएल सैनिटाइजर इस्तेमाल कर सबकुछ साफ कर लिया. डॉक्टर्स का कहना है सैनिटाइजर खरीदते हुए यह सुनिश्चित करें कि उसमें 60-70 प्रतिशत एल्कोहल की मात्रा हो. वो भी ईथाइल या आइसोप्रोपाइल एल्कोहल होना चाहिए. इससे ज्यादा मात्रा भी ठीक नहीं है. सैनिटाइजर लगे हाथों से खाना खतरनाक हो सकता है. क्योंकि उसमें भारी मात्रा में एल्कोहल होता है, जो आपकी किडनी, लीवर और दिल को प्रभावित कर सकता है. सैनिटाइजर लगाने के 20 सेकेंड बाद ही खाना शुरू करें. इतनी देर में वो भाप बन जाता है. सैनिटाइजर कितने देर तक प्रभावी होता है? इस सवाल पर डॉक्टर की राय है कि सैनिटाइजर लगाने तक. यानी कि जब आपने सैनिटाइजर से हाथ साफ किया तभी तक के विषाणु खत्म होते हैं. इस्तेमाल के 20 सेकेंड बाद अगर आपने फिर कोई सामान छुआ है तो आपको फिर से हाथ साफ करना होगा. उन्होंने बताया कि बार-बार सैनिटाइजर का प्रयोग करना भी ठीक नहीं है. इसलिए कोशिश ज्यादा से ज्यादा बार हाथ धोने की होनी चाहिए. क्या एल्कोहल पीने वालों में कोरोना का डर कम होता है? इस सवाल के जवाब में डॉक्टर कहते है कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है. क्योंकि विषाणु जब आपके शरीर में घुसता है तो वो नली के अंदर बैठा नहीं रहता है. वो कोशिका के अंदर घुस जाता है. दूसरी बात पीने वाले एल्कोहल में उसकी मात्रा विषाणु को खत्म करने के लिहाज से बहुत कम होती है. क्योंकि अगर आपके शरीर में एल्कोहल की मात्रा बहुत ज्यादा होगी तो फिर हार्ट या किडनी फेल्योर हो सकता है. इसलिए लोगों के बीच में शराब को लेकर बहुत बड़ी गलतफहमी है.

रिपोर्ट : राहुल सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *